Counter

  • Unique Visitor:129,684

    APMC home

    एपीएमसी परिचय

    मंडी समिति कांगड़ा वर्ष 1981 में स्‍थापित हुई थी और हिमाचल प्रदेश कृषि उत्‍पाद मंडी अधिनियम, 1969 (1970 का अधिनियम 9) के तहत अधिसूचना संख्‍या Agr.HMB/5-7/76 (एग्री.एचएमबी/5-7/76) के जरिये संपूर्ण कांगड़ा जिले को अधिसूचित क्षेत्र घोषित कर दिया गया था, जो अब हिमाचल प्रदेश कृषि एवं बागवानी उत्‍पाद विपणन (विकास एवं नियमन) अधिनियम, 2005 (2005 की अधिनियम संख्‍या 20) की धारा 86 के जरिये निरस्‍त हो चुका है। इसे हिमाचल प्रदेश के माननीय राज्‍यपाल ने 25 मई, 2005 को मंजूरी दी थी। कांगड़ा में प्रमुख मंडी और नगरोटा बागवां में उप मंडी के साथ कृषि उत्‍पाद मंडी समिति, कांगड़ा ने 11.2.1981 को काम करना शुरू किया था। मंडी समिति कांगड़ा ने वर्ष 1984-85, 1989-90, 2003-04 और 2008-09 में क्रमश: जस्‍सूर, बैजनाथ, जयसिंहपुर और ज्‍वालाजी में चार और उप मंडी स्‍थापित कीं। वर्ष 1981-82 से पालमपुर उप मंडी नगर परिषद के परिसर में चल रही है। एपीएमसी पालमपुर में आधुनिक मंडी का काम पूरा कर चुकी है और जल्‍द ही यह चालू हो जाएगी। एपीएमसी कांगड़ा की शुरुआत के वक्‍त 36 डीलरों को कारोबार का लाइसेंस दिया गया था। अब लाइसेंसों...